Secured loan and Unsecured loan in Hindi: सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन क्या है

What is Secured loan and Unsecured loan in Hindi सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन : इस article में हम आपको Secured and Unsecured Loan in Hindi के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे | अगर आप किसी लोन के लिए apply कर रहे है और आपको यह नहीं पता है की सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड लोन क्या होते है तो यह article आपके लिए है | जब भी आप किसी लोन के लिए आवेदन करते है तो आपने सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड लोन का नाम जरुर सुना होगा और आपके मन में यह सवाल जरुर आया होगा की ये लोन क्या होते है |

Secured Loan and Unsecured Loan दोनों में ही आपकी क्रेडिट हिस्ट्री बहुत मायने रखती है | इस article में हम आपको सुरक्षित ऋण और असुरक्षित ऋण के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे इस लिए आप इस article को पूरा अंत तक पढ़े |

Secured loan and Unsecured loan in Hindi

भारत में मुखतः दो प्रकार के ऋण है. एक सुरक्षित ऋण (Secured loan) और दूसरा असुरक्षित ऋण (Unsecured loan). सुरक्षित ऋण वह ऋण होता है जिसमे आपको ऋण लेने के लिए ऋणदाता को संपार्श्विक या सुरक्षा (Collateral or Security) देनी होती है. लेकिन असुरक्षित ऋण में आपको कोई संपार्श्विक या सुरक्षा नहीं देनी होती है. सिक्योर्ड लोन आपको कम सिबिल स्कोर भी मिल जाता है क्युकी इसमें आपको अन्य सिक्यूरिटी भी देनी होती है लेकिन अनसिक्योर्ड लोन लेने के लिए आपका CIBIL Score बहुत मायने रखता है. इस आर्टिकल में आगे सुरक्षित ऋण और असुरक्षित ऋण के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है.

सिक्योर्ड लोन क्या होता है? (What is Secured Loan in Hindi)

सुरक्षित ऋण (Secured loan Meaning in Hindi) वह लोन होता है जिसमे आपको ऋणदाता के पास कोई चीज संपार्श्विक या सुरक्षा के रूप में गिरवी रखनी होती है | संपार्श्विक या सुरक्षा के रूप में आप घर, कार, खरीदी गई वस्तु, गोल्ड आदि का उपयोग कर सकते है | इस लोन में आपको ऋणदाता को यह पूरा विश्वाश दिलाना होता है की आप समय पर पूरी लोन राशी का भुगतान कर देंगे इस लिए आपको कोई चीज संपार्श्विक के तौर पर ऋणदाता के पास रखनी होती है |

सिक्योर्ड लोन के कई फायदे है | इस लोन के तहत आप कम ब्याज दर, अधिक लोन राशी और अधिक लोन अवधि का लाभ ले सकते है | ऋणदाता के द्वारा यह लोन गारंटी के साथ आवेदक को दिया जाता है | अगर आप समय पर अपने लोन का पूरा भुगतान ऋणदाता को नहीं करते है तो ऋणदाता अपने पैसो की वसूली के लिए आपके संपार्श्विक को बेच सकता है |

सिक्योर्ड लोन के कुछ उदहारण है (Secured loan example in Hindi):

Secured Loan के तहत ऋणदाता एक बड़ी राशी आवेदक को इस गारंटी के साथ देता है की वह इसे चुका देगा | एक सुरक्षित ऋण का मतलब यह है की ऋणदाता को आप एक सुरक्षा प्रदान कर रहे है की आपका लोन चुकाया जायेगा | Secured Loan के निम्न लाभ आपको मिलते है :

  • कम ब्याज दर
  • अधिक ऋण राशी
  • अधिक लोन अवधि

अनसिक्योर्ड लोन क्या होता है? (What is Unsecured loan in Hindi)

Unsecured loan (असुरक्षित ऋण), सुरक्षित ऋण के पूरी तरह से विपरीत होते है | असुरक्षित ऋण (Unsecured loan Meaning in Hindi) में आवेदक का CIBIL Score बहुत मायने रखता है | अगर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री बहुत ख़राब है तो कोई ऋणदाता आपको यह लोन नहीं देगा | इस लिए किसी भी अनसिक्योर्ड लोन के लिए apply करने से पहले आपको अपने Credit Score पर बहुत ज्यादा ध्यान देना होगा |

यह लोन लेने के आपको ऋणदाता कोई को चीज संपार्श्विक या सुरक्षा के रूप में नहीं देनी होती है | Unsecured loan की ब्याज दर सिक्योर्ड लोन की तुलना में अधिक होती है | सिक्योर्ड लोन की तुलना में आपको कम ब्याज दर, कम लोन राशी और कम लोन अवधि मिलती है | यह लोन ऋणदाता अपने जोखिम पर आवेदक को देता है क्युकी चुक के मामल में वसूली के लिए कोई सम्पति नहीं होती है | आपके क्रेडिट हिस्ट्री को देखते हुए अगर आपका लोन अस्वीकार कर दिया जाता है तो आप सिक्योर्ड लोन के लिए apply कर सकते है |

ऋणदाता आपको यह लोन देने से पहले कई कारको को ध्यान में रखता है जैसे की :

  • आवेदक का क्रेडिट स्कोर, चरित्र, रोजगार का इतिहास
  • आपकी वर्तमान आय, ऋण को चुकाने की क्षमता
  • पूंजी या बचत खातो में पैसा

अनसिक्योर्ड लोन के उदहारण (Unsecured loan example in Hindi):

Secured and Unsecured Loan in Hindi

निचे दी गई तालिका के माध्यम से हम सिक्योर्ड लोन और अनसिक्योर्ड लोन की तुलना कर सकते है :

सिक्योर्ड लोनअनसिक्योर्ड लोन
इस लोन में आपको ऋणदाता को संपार्श्विक या सुरक्षा देनी होती है |इसमें आपको कोई संपार्श्विक या सुरक्षा नहीं देनी होती है |
अनसिक्योर्ड लोन की तुलना में इस लोन की ब्याज दर कम, लोन अवधि अधिक, लोन राशी अधिक होती है | सिक्योर्ड लोन की तुलना में अधिक ब्याज दर, कम लोन अवधि, कम लोन राशी
इसमें प्रसंस्करण (Processing) में समय लग सकता है क्युकी संपार्श्विक को मूल्यांकित करने की आवश्यकता होती है |इसमें तेजी से प्रसंस्करण (Processing) प्रक्तिया होगी क्युकी संपार्श्विक को मूल्यांकित करने की आवश्यकता नहीं |
यह लोन आवेदक की आय, संपत्ति के मूल्य और अन्य मोजुदा ऋणों के आधार पर अप्रूवल किया जाता है |यह ऋण आवेदक की आय, क्रेडिट स्कोर, अन्य मोजुदा ऋण के आधार पर स्वीकृत किया जाता है |
सुरक्षित होने के कारन यह ऋण प्राप्त करना आसान होता है |असुरक्षित होने के कारन तुलनात्मक रूप से यह लोन प्राप्त करना थोडा मुश्किल होता है |
यह लोन गारंटी के साथ दिया जाता है |इसमें आपको किसी भी प्रकार की कोई गारंटी नहीं देनी होती है |
इसमें लोन की राशी आवेदक की आय, संपार्श्विक या सुरक्षा जैसे कारको पर निर्भर करती है |इसमें लोन की राशी पुरी तरह से आवेदक की आय, क्रेडिट हिस्ट्री पर निर्भर करती है |
Example: होम लोन, Mortgage Loan, कार लोन आदि |Example: पर्सनल लोन, स्टूडेंट्स लोन, क्रेडिट कार्ड आदि |

Secured loan vs Unsecured loan – दोनों में से कोनसा बेहतर है ?

मेरी राय में सुरक्षित ऋण बेहतर होता है | क्युकी यह लोन सुरक्षित होने के कारन कम समय में आपको प्राप्त हो जाता है | Secured Loan (सुरक्षित ऋण) आपको कम ब्याज दर पर और लम्बी अवधि के लिए मिल जाता है | इसमें आप अनसिक्योर्ड लोन की तुलना में अधिक ऋण राशी ले सकते है |

आप इस article को पढ़कर Secured and Unsecured Loan दोनों में तुलना करके यह अनुमान लगा सकते है की Secured Loan तुलनात्मक रूप से अधिक फायदेमंद होता है | सुरक्षित ऋण में कम जोखिम होने कारन ऋणदाता कम समय में आपका यह लोन अप्रूवल कर देते है |

किसी भी बैंक या वित्तीय संस्था में लोन के लिए आवेदन करने से पहले आपको पहले से कुछ चीजों को कवर कर लेना चाहिए | जैसे की अगर आप पर्सनल लोन ले रहे है तो आपको Personal Loan Interest Rate के बारे में जानकारी होना जरुरी है , अगर आप होम लोन ले रहे है तो आपको Home Loan Interest Rate के बारे में जानकारी होना बहुत जरुरी है और उसी प्रकार से अन्य किसी भी लोन के लिए आवेदन करने से पहले आपको उस लोन की ब्याज दर के बारे में जानकारी होना बहुत जरुरी है |

अगर आप किसी लोन के लिए apply करने से पहले उस लोन की ब्याज दर के बारे में जानकारी नहीं लेते है , लोन की EMI की गणना पहले नहीं करते है तो आपको लोन के भुगतान के समय काफी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है |

Conclusion

इस article में हमने आपको Secured loan and Unsecured loan Difference in Hindi 2022 के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है | आप इस article को पढ़कर Secured Loan and Unsecured Loan के बीच तुलना कर सकते है | अगर आपको कम ब्याज दर पर और अधिक अवधि और अधिक लोन अमाउंट का लोन चाहिए तो आप सिक्योर्ड लोन की ओर जा सकते है | सिक्योर्ड लोन सुरक्षित होने के कारन कम समय में ऋणदाता के द्वारा इसे स्वीकृत कर दिया जाता है |

अगर आपके मन में अभी भी सवाल है की Secured and Unsecured loan Kya Hota Hai तो आप हमे कमेंट में लिख सकते है. आशा करता हूँ दोस्तों की आपको यह article informative लगा होगा | अगर आपको यह article अच्छा लगा है तो प्लीज आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें |

Secured loan and Unsecured loan in Hindi से जुड़े सवाल:

असुरक्षित ऋण क्या है?

जो लोन बैंक अपने जोखिम पर ग्राहकों को प्रदान करता है वह Unsecured लोन होता है |

Car loan is Secured or Unsecured इनमे से कोनसा है?

कार लोन एक सिक्योर्ड लोन की श्रेणी में आता है क्युकी इसमें कार ही सिक्यूरिटी का काम करती है.

अनसिक्योर्ड लोन के उदाहरण क्या है?

पर्सनल लोन, एजुकेशन लोन etc.

अनसिक्योर्ड लोन और सिक्योर्ड लोन की तुलना कैसे करें?

इस आर्टिकल में इन दोनों लोन की तुलना की गई है | आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ सकते है |

बैंक ऋण सुरक्षित हैं या असुरक्षित?

बैंक आपको दोनों प्रकार के लोन प्रदान करता है |

टू व्हीलर लोन सिक्योर्ड लोन है या अनसिक्योर्ड ?

भारत में अधिकतर जो टू व्हीलर लोन अनसिक्योर्ड है लेकिन कुछ ऋणदाता सिक्योर्ड टू व्हीलर लोन भी देते है जिनकी ब्याज दर तुलनात्मक रूप से कम होती है.

Leave a Comment